Welcome to Kayastha Samaj.

संकल्प कोष दान

आप का एक संकल्प किसी के जीवन में मुस्कराहट ला सकता है,

संकल्पदान एक सामाजिक व्यवस्था

संकल्पदान एक सामाजिक व्यवस्था है। इससे समाज में संतुलन बनता है। दान के कारण ही कई निर्धन परिवार के लोगों का भरण पोषण हो पाता है। हमारी संस्कृति में कहा गया है कि हर जीव में परमात्मा का वास है। अत: कोई व्यक्ति भूखा न रहे। दानधर्म से ही यह संस्कृति अटूट है। इस उद्देश्य से संकल्पदान कोष की स्थापना की गयी है इसके माध्यम से सर्वहितकारी कार्य किये जायेंगे ।

संकल्पदान के सर्वहितकारी उद्देश्य

दुर्घटना व विपदाकाल प्राकृतिक आपदा में पीडितों की सहायता करना।
अनाथालयों में सेवाकार्य व आर्थिक मदद करना, बेसहारा बच्चों व वृद्धों की हर संभव मदद करना, वृद्ध आश्रमों में त्यौहारों पर गतिविधियाँ आयोजित करना।
नशा प्रवृत्ति में लिप्त युवाओं, अनाथालयों एवं वृद्ध आश्रमों में आश्रित व्यक्तियों की सेवा हेतु स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन व आवश्यक सामग्री का वितरण।
वस्त्रदान, अन्नदान, पुस्तक दान व सभी दैनिक उपयोगी वस्तुओं का दान व अन्य उपयोगी वस्तुओं को दान करने के लिए विस्तृत जानकारी उपलब्ध कराना। दान में आयी वस्तुओं के संरक्षण व वितरण की व्यवस्था करना।
समय-समय पर आवश्यकतानुसार गतिविधियाँ संचालित करना जैसे गर्मियों में प्याऊ निर्माण, बेजुबान पशु पक्षी के लिए अन्न जल, दान द्वारा राहत कार्य करना, वृक्षारोपण, किताब घर अभियान, जल बचाओ अभियान, नशामुक्ति शिविर, शिक्षा अभियान, स्वच्छता अभियान, बेटी बचाओं अभियान, भ्रूण हत्या एवं समाजिक कुरीतियों का रोकने के सफल प्रयास और संक्रमक फैलाने वाली बीमारियों के प्रति बचाव के उपाय करना।
समाज के महापुरूषों की जयंती पर चिकित्सालयों, बेसहारा लोगों को खाद्य पदार्थ, भोजन, फल आदि का वितरण करना।

सर्वहितकारी संकल्प

जो-जो व्यक्ति सर्वहितकारी कार्यो में तन, मन, धन से सहायता करेंगा वह कायस्थ समाज में सम्मान के योग्य होगा। यह कार्य सर्वहितकारी है, इसलिए इस लिए आपसे सहयोग की पूरी आशा है।

संकल्पदान कोष में जितना दान प्राप्त होगा वह सर्वहितकारी कार्यों में ही लगाया जायेगा। और जो कोई इस संकल्पदान कोष के लिए जो प्राप्त धन है, उसको चोरी से अपहरण करेगा वह पाप, पुण्य का लेखा जोखा रखने वाले धर्मराज श्री चित्रगुप्तजी महाराज समक्ष पाप का भागी होगा। और वे इस लोग और परलोक में महादुःख का भागी भी होगा।

संकल्पदान कोष सेे सर्वहितकारी कार्यों का निश्चय सार्वदेशिक कायस्थ युवा प्रतिनिधि संस्था की कार्यकारणी बैठक में निश्चित किया जायेगा।

संकल्पदान कोष को एकृत करने के लिए संकल्पित सदस्य को दान-पात्र (गुल्लख) उपलब्ध कराया जायेगा। जिससे वह प्रतिदिन सामर्थानुसार धन दान-पात्र में डालेगा एवं दान-पात्र भर जाने की स्थिति में उसमें एकृत राशि की गढ़ना कर अधिकृत सदस्य द्वारा प्राप्ति रसीद देकर राशि एकृत की जायेगी एवं दान-पात्र पुनः उपलब्ध कराया जायेगा।

संकल्पदान संकल्पित सदस्य द्वारा सीधे बैंक में सभा के खाते या कार्यालय में जमा किया जा सकता है।

नवीन प्रयासों द्वारा एक सर्वहितकारी सजग सृजनात्मक समाज का गठन कर सर्वहितकारी नैतिक उत्थान अभियान चलाकर समाज की नई पहल नई व्यवस्था लाकर समाज को उत्कृष्ठ स्थान प्राप्त करायेंगे।

संकल्पदान कोष के लिए संकल्पित कायस्थ सदस्य को श्री चित्रगुप्त जी की कथा, आरती एवं स्तुति की जानकारी हो इस हेतु सम्बन्धित पुस्तक, साहित्य का वितरण किया जायेगा।

उपर्युक्त उद्दश्यों की पूर्ति हेतु धर्मार्थ अथवा सर्वहित के लाभार्थ से कायस्थ समाज द्वारा अथवा स्वयं किसी सम्पत्ति को दान करना, उसे सुरक्षित रखना, तथा उसके संबंध में समस्त आवश्यक निर्णय लेना आदि।